ऑक्सीजन की खोज किसने की थी ?

0
42 views

oxygen ki khoj kisne ki thi

 

क्या आप जानते है ऑक्सीजन क्या है और ऑक्सीजन की खोज किसने की थी ? और हमें ये कहा से मिलती है इन सभी सवालो के जवाब इस लेख में आपको मिलेंगे ।दोस्तो जैसा की आपको पता है की आक्सीजन  हर मनुष्य प्राणी ,जीव जंतु के लिय इतनी उपयोगी है की इसके बिना मनुष्य का जीवित रहना अस्मभव है इस रासायनिक तत्व के बिना धरती पर जीवन नामुमकिन है।

इसके विभिन्न रासायनिक गुणों के पता चल जाने से आज इसका उपयोग स्टील, प्लास्टिक, वस्त्र आदि उद्योगों में बड़े स्तर पर किया जा रहा हैं तो आज हम बात करेंगे की  अक्सीजन की  खोज  सबसे पहले किसने  की थी तो इस पोस्ट को अंत तक पड़े।

 

ऑक्सीजन गैस की खोज किसने की थी ?

 

ऑक्सीजन गैस की खोज 1772 में स्वीडन के कार्ल विल्हेम शीले (Carl Wilhelm Scheele ) नाम के वैज्ञानिक ने की थी ऐसे तो आक्सीजन की खोज का श्रेय दो व्यक्तियों को दिया जाता है

कार्ल विल्हेल्म शीले और जोसेफ प्रिस्टले  ऑक्सीजन, पृथ्वी पर पाए जाने वाले रासायनिक तत्वों में तीसरा सबसे ज्यादा पाया जाने वाला रासायनिक तत्व  है और यह नाइट्रोज़न गैस की तुलना में पानी में दुगुना घुलनशील होती है ऑक्सीजन गैस रंगहीन ,स्वादहीन , और गंधहीन होती है ।

आक्सीजन गैस की खोज किसने की थी और कहा के थे | oxygen ki khoj kisne ki thi

 

आक्सीजन गैस की खोज कार्ल विलहेल्म शीले ने की यह एक स्वीडन के रहने वाले थे। 1772 में शीले ने कई सारे यौगिकों को गर्म करके देखा था। इनमें मैंग्नीज़ ऑक्साइड, पोटेशियम नाइट्रेट वगैरह थे। इन्हें गर्म करने पर एक गैस निकली। जिसके कारण इनके मन में गैस बनाने का विचार आया जो सफल भी हुआ शीले ने ऑक्सीजन खोज निकाली थी। लेकिन उन्होंने इसे ‘अग्नि वायु’ (फायर एयर) नाम दिया था।

जोसेफ प्रिस्टले – जोसेफ प्रिस्टले एक अंग्रेजी वैज्ञानिक थे  उनकी रुचि गैसों के अध्ययन में थी  हवा में उपस्थित गैसों का अध्ययन उनकी दिलचस्पी का विषय था  वे मानते थे की जलने वाली वस्तु में से और जन्तुओं की साँस के साथ फ्लॉजिस्टन निकलता है और हवा को संतृप्त कर देता है, तब वह हवा दहन या श्वसन के अनुपयुक्त हो जाती है।

जोसेफ प्रिस्टले 18वीं सदी के प्रसिद्ध धर्मशास्त्री, प्राकृतिक दर्शनशास्त्री, प्रगतिशील व्याकरणाचार्य तथा रसायनज्ञ थे उनका जन्म 13 मार्च, 1733 को इंग्लैंड के वेस्ट यॉर्कशायर प्रांत के एक छोटे से गांव ब्रिस्टल में हुआ था।

 

ऑक्सीजन का घनत्व कितना लीटर होता है ? 

 

ऑक्सीजन का घनत्व कितना 1.4290 ग्राम प्रति लीटर है और वायु की अपेक्षा यह गैस 1.10527 गुना भारी  होती है और ऑक्सीजन पानी में थोड़ा घुलनशील होती है ।

वायु में ऑक्सीजन की मात्रा 21 % है लेकिन वैज्ञानिको के अनुसार धरती पर जब ऑक्सीजन की मात्रा 35 % थी तब यहाँ के जीव-जन्तुओ का आकार अभी की तुलना में बहुत ज्यादा हुआ करती थी मनुष्य के शरीर में 90% ताक़त ऑक्सीजन की वजह से आती है और भोजन,पानी से केवल 10% ताक़त ही मिलती है।

आपको बता दें कि मनुष्य जितना भोजन ग्रहण करते है उससे 23 गुना ज्यादा हवा साँस के रूप में लेते है और जितना पानी पीते है उससे 8 गुना ज्यादा हवा साँस के रूप में लेते है।

जीवित चीजों में बहुत अधिक पानी होता है और पानी का 88.9% वज़न ऑक्सीज़न की वजह से होता है।

 

खून में ऑक्सीजन का स्तर कितना रहता है ?

 

नार्मल आदमी के खून में ऑक्सीजन का स्तर 12 से 14 किलोपास्कल तक रहता है लेकिन खून में ऑक्सीजन का सबसे कम स्तर 3.28 किलोपास्कल दर्ज किया गया है  ये आंकडा 2009 में पर्वतारोहियों के खून में पाया गया था

वायुमण्डल में इसकी मात्रा लगभग 20.95% होती है। ऑक्सीजन भूपर्पटी पर सर्वाधिक मात्रा (लगभग 46.6%)में पाया जाने वाला तत्त्व है।

जीवन के हर 10 साल बाद फेफड़ों की क्षमता 5% घट जाती है जिससे ऑक्सीजन की खपत कम हो जाती है लगभग सभी कैंसर ऑक्सीजन की कमी के कारण शुरू होती हैं। आपको बता दें कि केकड़ी के खून का रंग साफ होता है, लेकिन ऑक्सीजन के संपर्क में आते ही नीला हो जाता है।

ऑक्सीजन धातुओं को जोड़ने तथा क्लोरीन, सल्फ़्यूरिक अम्ल आदि के औद्योगिक निर्माण में प्रयोग की जाती है।

 

 

तो दोस्तो हमने आज जाना है की ऑक्सीजन गैस क्या है और ऑक्सीजन की खोज किसने की थी और ऑक्सीजन मानव शरीर के लिए क्यों उपयोगी है और ऑक्सीजन का स्तर मनुष्य के शरीर में कितना पाया जाता है उम्मीद करते है की आपको इस पोस्ट के माध्यम से इन सब की जानकारी मिल गई होगी तो इसे ज्यादा से ज्यादा सोशल मीडिया पर शेयर करे।

Popular Posts –

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here