जीडीपी क्‍या है ? GDP Full Form In Hindi

0
39 views

GDP kya hai GDP FUll Form In Hindi

आपमें से कई लोगों के मन में यह सवाल उठता होगा। जीडीपी किसे कहते हैं जीडीपी क्या है और जीडीपी की फुल फॉर्म क्या है और भारत की जीडीपी कितनी है और जीडीपी कैसे निकलते है तो अगर आप जीडीपी के बारे में पूरी जानकारी हांसिल करना चाहते है तो इस पोस्ट को आप पूरा पड़े तो चलिए जानते है जीडीपी की जानकारी हिंदी में ।

जीडीपी क्‍या है ? What IS GDP In Hindi

जीडीपी ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्ट है जो किसी भी देश की आर्थिक सेहत को मापने का पैमाना या जरिया है। आपको बता दें कि भारत में जीडीपी की गणना प्रत्येक तिमाही में की जाती है। जीडीपी का आंकड़ा अर्थव्यवस्था के प्रमुख उत्पादन क्षेत्रों में उत्पादन की वृद्धि दर पर आधारित होता है।

जीडीपी के तहत कृषि, उद्योग व सेवा तीन प्रमुख घटक आते हैं। इन क्षेत्रों में उत्पादन बढ़ने या घटने के औसत के आधार पर जीडीपी दर तय होती है जिस तरह मार्कशीट से पता चलता है कि छात्र ने सालभर में कैसा प्रदर्शन किया है और किन विषयों में वह मज़बूत या कमज़ोर रहा है।

उसी तरह जीडीपी आर्थिक गतिविधियों के स्तर को दिखाता है और इससे यह पता चलता है कि किन सेक्टरों की वजह से इसमें तेज़ी या गिरावट आई है।

जीडीपी की फुल फॉर्म क्या होती है ?

अब हम जानेंगे की जीडीपी की फुल फॉर्म क्या है GDP full form in hindi
GDP (जीडीपी) की फुल फॉर्म
  • G –  Gross
  • D –  Domestic
  • P –  Product
अब आपको हम GDP की फुल फॉर्म हिंदी में बताएँगे
GDP Full Form In hindi –

जीडीपी का प्रयोग सबसे पहले कहा किया गया था ?

जीडीपी शब्द का सबसे पहले प्रयोग अमेरिका के अर्थशास्त्री साइमन के द्वारा 1935-44 के बीच किया गया था यह वह समय था, जब विश्व की बड़ी- बड़ी बैंकिंग संस्थाएं देश के आर्थिक विकास को मापने पर कार्य कर रही थी।

लेकिन तब तक कोई ऐसा पैरामीटर निश्चित नहीं किया जा सका था, जिससे देश की आर्थिक विकास को आसानी से समझ कर दूसरों को समझाया जा सके।

जीडीपी कैसे बनती है या GDP कैसे निकलते है (How Do GDP Come Out) ?

जीडीपी निकालने के लिए इस सूत्र का प्रयोग किया जाता है-

सकल घरेलू उत्पाद = निजी खपत + सकल निवेश + सरकारी निवेश + सरकारी खर्च + (निर्यात-आयात) जीडीपी डिफ्लेटर (अपस्फीतिकारक) बहुत ही जरूरी है, इसके द्वारा मुद्रास्फीति को मापा जाता है |

इसकी गणना के लिए वास्तविक जीडीपीमें से अवास्तविक (नामिक) जीडीपी को विभाजित किया जाता है और इसे 100 से गुणा किया जाता है ।

GDP (कुल घरेलू उत्पाद) = उपभोग (Consumption) + कुल निवेश

GDP = C + I + G + (X − M) इसके द्वारा देश की सीमा के अन्दर देश की सभी संस्थाओं के द्वारा किये गये कुल खर्च की गणना की जाती है।

जीडीपी के कितने प्रकार होते है? (Types of GDP In Hindi )

जीडीपी की गणना करने में देश के अंदर वस्तुओं और सेवाओं के मूल्य की गणना की जाती है समय के अनुसार इन वस्तुओं और सेवाओं के मूल्य में परिवर्तन होता रहता है, जिसके लिए जीडीपी की गणना करना थोड़ा सा कठिन होता है, इसके लिए टैक्स के आधार पर कई अप्रत्यक्ष और औसत गणना की जाती है, जीडीपी दो प्रकार से है-

 

1. वास्तविक जीडीपी (Real GDP)

देश की जीडीपी निकालने के लिए एक आधार वर्ष का निर्धारण किया जाता है इसमें वस्तुओं और सेवाओं के मूल्य को फिक्स माना जाता है।

 

2. अवास्तविक जीडीपी (Unrealistic GDP)

किसी देश की जीडीपी निकालने के लिए वर्तमान बाज़ार कीमत को आधार माना जाता है, इस कीमत के आधार पर ही जीडीपी का अध्ययन किया जाता है। इस प्रकार से जीडीपी को अवास्तविक (नामिक) जीडीपी कहा जाता है ।

भारत की जीडीपी कितनी है ? Bharat ki gdp kitni hai 2021 

भारत दुनिया के सबसे तेजी से विकास करने वाली अर्थव्यवस्थाओं में से एक है, जिसकी जीडीपी बहुत अच्छी रही है भारत की  जीडीपी लगभग दो लाख करोड़ रुपए के करीब हैं, जो कि दुनिया भर की कुल जीडीपी का 2% से ज्यादा है।जीडीपी को नापने की जिम्मेवारी मिनिस्ट्री ऑफ स्टैटिक एंड प्रोग्राम इंप्लीमेंटेशन के तहत आने वाले सेंट्रल स्टैटिक्स ऑफिस यानी CSO की होती है।

यहाँ हमने जाना है जीडीपी क्या है और भारत की जीडीपी कितनी है bharat ki gdp kitni hai 2021 और जीडीपी की फुल फॉर्म क्या होती है और जीडीपी कैसे बनती है और साथ हमने इस पोस्ट में जीडीपी के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में बताई है उम्मीद है इस पोस्ट में आप जान गए होंगे की जीडीपी क्या होती है और जीडीपी की पूरी जानकारी ।

Popular Posts –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here