विश्व का सबसे बड़ा पठार कौन सा है ? पूरी जानकारी

0
24 views

Duniya ka sabse bada pathar kaun sa hai

Duniya ka sabse bada pathar kaun sa hai – क्या आपको पता है की पठार किस कहते है और विश्व का सबसे बड़ा पठार का क्या नाम है और दुनिया का सबसे बड़ा पठार का क्षेत्रफल कितना है इस पठार का निर्माण कैसे हुआ इन सभी के प्रश्न उत्तर इस पोस्ट में हम आपको विस्तार के साथ बताने वाले तो इस पोस्ट को आप अंदर तक जरूर पढ़ें ।

 

पठार किसे कहते है ? What is plateau in hindi

 

वे क्षेत्र जो अपने आस पास के क्षेत्र से ऊचे उठे हुए रहते है ये ऊपर से किसी टेबल की भांति सपाट नजर आते है। ये पृथ्वी पर द्वितीय श्रेणी के उच्चावच कहलाते है। ये संपूर्ण पृथ्वी के लगभग 33 प्रतिशत स्थल भाग पर पाये जाते है।

 

विश्व का सबसे बड़ा पठार कौन सा है? which is the highest plateau in the world

 

दुनिया का सबसे ऊंचा पठार तिब्बत का पठार है जिसे संसार की *छत” ( Roof of the World) के नाम से भी जाना जाता है यह मध्य एशिया में स्थित एक ऊँचाई वाला विशाल पठार है।

 

जो दक्षिण में हिमालय पर्वत शृंखला से लेकर उत्तर में टकलामकान रेगिस्तान तक विस्तृत है। इसमें चीन द्वारा नियंत्रित बोड स्वायत्त क्षेत्र, चिंग हई, पश्चिमी सीश्वान, दक्षिण-पश्चिमी गांसू और उत्तरी यून्नान क्षेत्रों के साथ-साथ भारत का लद्दाख़ इलाक़ा आता है।

 

 

तिब्बत का पठार महान पर्वत शृंखलाओं से घिरा हुआ है यह उत्तर में कुनलुन पर्वत शृंखला है जो इस पठार के और तारिम द्रोणी के बीच है पूर्वोत्तर में चिलियन पर्वतमाला इसे गोबी रेगिस्तान से विभाजित करती है।

 

 

भारत की महत्वपूर्ण ब्रह्मपुत्र नदी भी दक्षिण तिब्बत से शुरू होती है। पश्चिम की ओर इस पठार और उत्तरी कश्मीर के बीच विशाल काराकोरम पर्वत आते हैं।

 

दुनिया का सबसे ऊंचा इस  पठार का क्षेत्रफल कितना है?

 

दुनिया का सबसे बड़ा पठार कहा जाने वाला इस पठार का उत्तर से लेकर दक्षिण तक लगभग 1000 किलोमीटर लंबा और पूरब से लेकर पश्चिम तक इसकी लंबाई 2500 किलोमीटर है और इसका क्षेत्रफल-2,500,000 वर्ग किमी (9,65,000 वर्ग मील) है ।

 

तिब्बत के पठार का कुल क्षेत्रफल 24 लाख वर्ग किमी है, यानी भारत के क्षेत्रफल का 75% और फ़्रांस के  देश का चौगुना है पठार के दक्षिणी और पूर्वी हिस्सों में घास के मैदान हैं जहाँ मवेशी-पालन से ख़ानाबदोश लोग जीवन बसर करते हैं।

 

तिब्बत के पठार का चीनी नाम कोंगलिंग है, वहीं इसे पामीर पठार के नाम से जाना जाता है, जबकि यहां उगने वाले जंगली ज्याज के नाम पर इसे प्याजी पर्वत भी कहा जाता है। इन विकट परिस्थितियों में यूं तो यहां आबादी कम ही रहती है,

 

लेकिन चान्गतंग दुनिया का तीसरा सबसे कम आबादी वाला इलाका है तिब्बत पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना का राष्ट्रीय स्वायत्त क्षेत्र है, और इसकी भूमि मुख्य रूप से पठारी है। इसे पारंपरिक रूप से बोड या भोट भी कहा जाता है।

 

तिब्बत के पठार का निर्माण कैसे हुआ था ?

 

आपको बता दू की तिब्बती पठार और (हिमालय) पर्वत श्रृंखला का निर्माण 50 मिलियन साल पहले शुरू हुआ था जो आज भी जारी है इसका निर्माण  भारतीय प्लेट और यूरेशियन प्लेट के बीच टकराव के कारण हुआ था ।

 

भारतीय प्लेट और यूरेशियन प्लेट के बीच होने वाली टक्कर के कारण मेटामॉर्फिक और तलछटी चट्टानों के उत्थान ने पहाड़ों के निर्माण की एक प्रक्रिया की शुरुआत की जो आज तिब्बत के पठार और हिमालय पर्वत के रूप में नज़र आता है।

 

कुनलुन पर्वत श्रृंखला भी इसी टक्कर के परिणामस्वरूप बनी है। 240-250 मिलियन साल पहले, इंडियन प्लेट की एशिया प्लेट के साथ टकराव शुरू हुई थी। जिसके कारण तिब्बत का पठार दुनिया का सबसे युवा पठार कहा गया

 

 

विश्व के सबसे बड़े इस पठार को चीन में किस नाम से जाना जाता है

 

विश्व के सबसे बड़े इस पठार को चीन में इसे Qinghai–Tibet Plateau (किहाई-तिब्बत पठार) या हिमालय पठार के नाम से जाना जाता है ।

 

तिब्बत का पठार चीन  के साथ-साथ भारत , नेपाल और पाकिस्तान की सीमा में भी आता है विश्व प्रसिद्ध सिंधु नदी का उद्गम भी तिब्बत के पठार में मानसरोवर झील के पास से ही होता है।

 

तो उम्मीद है इस पोस्ट में आप गए होंगे कि दुनिया का सबसे बड़ा पठार कौन सा है या विश्व का सबसे बड़ा पठार कौन सा है और विश्व के सबसे बड़े पठार का क्षेत्रफल कितना है और यह किस देश में स्थित है यह सभी जानकारी आपको इस पोस्ट में विस्तार के साथ बताई गई अगर आपको यह जानकारी पसंद आती है तो इस पोस्ट को आप सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें।

 

Popular Posts –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here