विश्व का सबसे बड़ा नदी द्वीप कौन सा है ? और कहाँ स्थित है

0
22 views

duniya ka sabse bada nadi deep kaun sa hai

दोस्तों इस पोस्ट में हम बात करने वाले हैं विश्व का सबसे बड़ा नदी द्वीप कौन सा है तथा विश्व का सबसे बड़ा नदी द्वीप कहां पर स्थित है तथा यह किस नदी पर बनाया और साथ ही हम इसके बारे में आपको संपूर्ण जानकारी इस पोस्ट में प्रदान करेंगे तो इस पोस्ट को आप अंत तक जरूर पढ़ें ।

विश्व का सबसे बड़ा नदी द्वीप कौन सा है ? और कहाँ स्थित है

विश्व का सबसे बड़ा नदी द्वीप माजुली द्वीप  है जो ब्रह्मपुत्र नदी के असम राज्य में स्थित है। यह विश्व का सबसे बड़ा नदी द्वीप है, इस द्वीप का निर्माण ब्रहमपुत्र नदी के दक्षिण में हुआ था तथा इसके उत्तर में खेरकुटिया नदी द्वारा इसका निर्माण हुआ यहाँ की आबादी 1.67 लाख के करीब है, और करीबी शहर जोरहाट से जलमार्ग से जुड़ा हुआ है।

माजुली द्वीप का क्षेत्रफल कितना है?

इस द्वीप का साल 2011 तक क्षेत्रफल 1250वर्ग किलोमीटर था जो कि ब्रह्मपुत्र नदी के बहाव और लगातार मिट्टी के कटान के कारण धीरे धीरे घटता चला गया और अब

इसका कुल क्षेत्रफल 352 वर्ग किलोमीटर है माजुली का यह नदी द्वीप बड़ी ही तेज़ गति से सिकुड़ता जा रहा है और हो सकता है कि गुजरते समय के साथ वह पूरी तरह से लुप्त हो जाए।

माजली को दुनिया का सबसे बड़ा नदी द्वीप क्यों कहा जाता है?

माजुली दुनिया का सबसे बड़ा नदी का द्वीप होने के लिए जाना जाता है। पहले यह द्वीप 1250 वर्ग किमी में फैला हुआ था। हालांकि मिट्टी के कटाव के कारण अब यह सिर्फ 421.65 वर्ग किमी तक सिमट कर रह गया है। माजुली जोरहट से सिर्फ 20 किमी दूर है और नाव के जरिए यहां आसानी से पहुंचा जा सकता है।

आपको बता दे की माजुली केवल पानी से घिरे होने के कारण एक द्वीप नहीं कहलता, बल्कि ऐसी बहुत सी बातें हैं जो वास्तव में उसे एक द्वीप बनाती हैं और इन्हीं में से एक है यातायात के साधन  माजुली तक पहुँचने का एकमात्र रास्ता है फेरी जो पीढ़ियों से इस द्वीप को बाहरी दुनिया से जोड़े हुए है।

हाल ही में 1 सितम्बर 2016 को माजुली सबसे बड़े नदी द्वीप के रूप में गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में शामिल किया गया था इसका उद्घाटन संगीतकार एवं दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित भूपेन हजारिका की 90वीं पुण्यतिथि पर आयोजित किया गया।

एशिया में नदी का सबसे बड़ा द्वीप कौन सी है ?

माजुली द्वीप दुनिया एशिया में नदी के बीच सबसे बड़ा द्वीप है गुवाहाटी से करीब 400 किलोमीटर दूर ब्रह्मापुत्र नदी के बीच स्थित माजुली 1250 वर्ग किलोमीटर में यह फैला हुआ है माजुली द्वीप नव-वैष्णव संस्कृति का केन्द्र रहा है ।

इसे मार्च 2011 में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) ने यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थलों की सूची में इस द्वीप को मनोनीत करने का प्रस्ताव रखा है माजुली के दक्षिण में दिहिंग नदी बहती थी् इसका घनत्व 300 व्यक्ति प्रति स्क्वायर मीटर है और यहा विभिन्न जातीय समूहों की लगभग 1,60,000 जनसंख्या निवास करती है।

यहां पर अरुणाचल प्रदेश से आकर बसे मिसिंग जनजातियों की जनसंख्या सर्वाधिक है इसके अतिरिक्त अन्य जनजातियां देवरी और सोनोवाल कछारी भी यहां निवास करती हैं इस द्वीप का विगत 30-40 वर्षों में बाढ़ की चपेट में आने के कारण एक-तिहाई हिस्सा कम हो गया है।

माजुली में विभिन्न जाति जनजातियों के लोग रहते हैं। इन्होनें माजुली के शानदार सांस्कृतिक विरासत के लिए अमूल्य योगदान दिया है। यहाँ अनुसूचित जनजाति (ST) के लोग ज्यादा बसते हैं। द्वीप में 47% जनसंख्या अनुसूचित जनजाति की है।

माजुली द्वीप पर क्या क्या व्यापार होते है ?

माजुली की अर्थव्यवस्था विविध और आत्मनिर्भर क्षेत्रों पर आधारित है। यहाँ का मुख्य उद्योग कृषि है और मुख्य उत्पाद धान और चावल है। यहा पर  उगाई जाने वाली मुख्य फसलें हैं- चावल, मक्का, गेहूं, अन्य अनाज, काला चना, सब्जियां, फल, अन्य खाद्य फसलों, कपास, जूट, अरंडी, गन्ना आदि है।

यहाँ चावल का एक सौ अलग अलग किस्में किसी भी प्रकार के कृत्रिम खाद या कीटनाशक के इस्तेमाल के बिना उगाई जाती हैं।

माजुली द्वीप के निकट राज्य कौन सा है ?

असम की राजधानी गुवाहाटी से माजुली द्वीप लगभग 200 किलोमीटर पूर्व में है। माजुली को असम की सांस्कृतिक राजधानी भी कहा जाता है इसे  दुनिया का सबसे बड़ा नदी द्वीप घोषित किया गया इससे पहले तक ब्राजील के माराजो द्वीप के पास यह खिताब था।

इस द्वीप का निकटतम बड़ा शहर जोरहट है इसी शहर से होकर देश का बाकी हिस्सा माजुली से जुड़ता है जोरहट एयरपोर्ट गुवाहाटी और कोलकाता एयरपोर्ट से जुड़ा हुआ है।

असम के मुख्यमत्रि सर्बानंद सोनोवाल का निर्वाचन क्षेत्र होना भी माजुली की एक पहचान  माना जाता है यहीं से जनता ने उन्हें चुनकर विधानसभा भेजा है मुख्यमंत्री इस द्वीप पर नियमित आते हैं और इससे जुड़े विकास कार्यों के लिए कितने सजग और प्रयत्नशील हैं।

माजुली द्वीप की खूबसूरती और प्राकृतिक सुंदरता आकर्षण है और यहा का सांस्कृतिक खजाना अद्भुत है इसी वजह से यह जगह अब यूनेस्को की संभावित वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स की सूची में है।

उम्मीद करते हैं इस पोस्ट में आपको जानकारी मिल गई होगी कि विश्व का सबसे बड़ा नदी द्वीप कौन सा है और दुनिया का सबसे बड़ा नदी द्वीप कहां पर स्थित है इसके बारे में इस पोस्ट में विस्तार से जानकारी दी है तो अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो इसको सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें

Popular Posts –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here