भारत का सर्वोच्च पर्वत शिखर कौन सा है ?

0
22 views

bharat ki sabse unchi cast kaun si hai

bharat ki sabse unchi choti kaun si hai – क्या आपको पता है की भारत की सर्वोच्च चोटी कौन सी है या भारत का सर्वोच्च पर्वत शिखर कौन सा है ? भारत की सर्वोच्च चोटी की लंबाई कितनी है और यह भारत के किस राज्य में स्थित है यह सवाल अक्सर परीक्षाओं में पूछ लिया जाता है । तो इन सभी सवालो के जवाब इस पोस्ट में आपको विस्तार से बताने वाले है ।

भारत का सर्वोच्च पर्वत शिखर कौन सा है ?

भारत का सर्वोच्च पर्वत शिखर K2 ( गॉडविन ऑस्टिन ) है जो विश्व का दूसरा सर्वोच्च पर्वत शिखर है। यह पाकिस्तान के गिलगित-बल्तिस्तान क्षेत्र चीन द्वारा नियंत्रित शिनजिआंग प्रदेश की सीमा पर काराकोरम पर्वतमाला में स्थित है। और ये कश्मीर के काराकोरम पर्वतमाला में स्थित होने के कारण K2 के नाम से जाना जाता है।

 

इसे के-2 का नाम 1852 ईo में टीजी मोंटगोमेर्य ने दिया गया। हेनरी हैवरशम गॉडविन ऑस्टिन के नाम पर इसका नाम गॉडविन ऑस्टिन रखा गया। इसका स्थानीय नाम छोगोरी है। आपको बता दूं कि पर्वतारोही इस पर जून से अगस्त के बीच चढ़ाई करते हैं।

 

सर्दी के मौसम में आज तक इस पर कोई पर्वतारोही चढ़ाई नहीं कर पाया। इस पर चढ़ना तो माउन्ट एवेरेस्ट पर चढ़ने से भी ज्यादा खतरनाक माना जाता है।

भारत में सबसे ऊंची पर्वत चोटी K2 – गॉडविन ऑस्टिन की ऊंचाई कितनी है?

विश्व की दूसरी सबसे ऊंची चोटी K2 या गॉडविन – ऑस्टिन की ऊंचाई ,611 मीटर (28,251 फ़ुट) है यह  चोटी माउंट एवरेस्ट के बाद पृथ्वी की दूसरी उच्चतम पर्वत चोटी है। पर ये पाक अधिकृत कश्मीर में स्थित है।

K2 पर चढ़ने का पहली अभियान 1902 में ब्रिटिश पर्वतारोही एलीस्टर क्रॉले और ऑस्कर एकिनस्टीन समेत 6 पर्वतारोहियों का अभियान दल के-2 पर चढ़ाई का सर्वप्रथम प्रयास करने पहुँचा ।

भारत की सबसे ऊंची छोटी पर चढ़ने में कितना समय लगता है ? 

इस दल ने पर्वत पर 68 दिन बिताए जिसमें से चढ़ाई के लिए अनुकूल केवल 8 दिन ही मिल पाए। इनमें शिखर पर पहुँचने के 5 प्रयास किए गए। लेकिन ख़राब मौसम और तमाम प्रतिकूलताओं के कारण दल के सभी प्रयास विफल रहे और अंततः उन्हें हार माननी पड़ी।

आपको बता दूं कि इस चोटी पर पर्वताआरोही एचाईल कॉम्पेगनोनी और लिनो लासेडेली के-2 के शिखर तक पहुँचने वाले पहले इंसान थे। उन्हें यह सफलता 19 जुलाई 1954 को मिली जिसे इटली में काफ़ी गर्व के साथ मनाया गया था यह चोटी प्राय हिमाच्छादित तथा बादलों में छिपी रहती है।

इसके पार्श्व में 30 और 40 मील लंबी हिमसरिताएँ हैं। इसके नाम की हिमसरिता तो इसके आधार पर ही है। हिमाचल प्रदेश में 16,000 फुट से अधिक ऊँचाई पर हमेशा बर्फ़ जमी रहती है। इसलिए इस पर्वतमाला को हिमालय कहना सर्वथा उपयुक्त है। यह संसार में एवरेस्ट के बाद दूसरी सबसे ऊँची चोटी है।

दुनिया की दूसरी सबसे ऊंची छोटी कोनसी है ? (कंचनजंघा जानकारी )

यदि बात करें कंचनजंघा की तो K-2 के क्षेत्र के विवादित होने के बाद यही भारत का सर्वोच्च पर्वत शिखर माना जाता है क्योंकि k2 कश्मीर में स्थित है और  कंचनजंघा शिखर पूरी तरह से भारत में अवस्थित है

इसलिए K2 ( गॉडविन ऑस्टिन ) के साथ साथ इसे भी भारत की सर्वोच्च चोटी मानी जाती है जैसा की आपको पता है की यह विश्व की तीसरी सबसे ऊँची पर्वत छोटी है। इसकी ऊँचाई 8586 मीटर है।

यह सिक्किम के पश्चिमोत्तर भाग में नेपाल की सीमा पर अवस्थित है। इसका पहला मानचित्र रइन्जीन नांग्याल द्वारा तैयार किया गया था। 1852 ईo तक यह विश्व केयह विश्व के सर्वोच्च पर्वत के रूप में विख्यात था K2 को इसके विकट मौसम और कठिनाइयों के चलते सेवेज माउंटेन भी कहा गया ।

जिसका अर्थ होता है हिंसक पर्वत। तकनीकी चढ़ाई, कठोर मौसम और हिमस्खलन के भारी खतरे के साथ के-2 चढ़ाई के लिए ‘एटथाउसेन्डर’ के सबसे मुश्किल पहाड़ों में से एक माना जाता है।

भारत की सभी ऊंची छोटी पर कौनसी फ्लिम बनी है ?

आपको बता दें कि K2 चोटी   वर्टिकल लिमिट,के-टू दो फिल्में भी बन चुकी है ।दुनिया की सबसे मुश्किल चोटी माने जाने वाली के2 पर्वत पर पहली बार किसी महिला ने बिना ऑक्सीजन की चढ़ाई  ऑस्ट्रिया की पर्वतारोही गेरलिंडे काटेनब्रुनर ने की थी इससे पहले यह  6 बार कोशिश कर चुकी है।

उम्मीद है की इस पोस्ट में आपको जानकारी मिल गई होगी की भारत की सर्वोच्च चोटी कौन सी है  ? भारत की सबसे ऊंची चोटी कौन सी है  ? और भारत की सबसे ऊंची चोटी की ऊंचाई कितनी है और भारत की सबसे ऊंची चोटी कहा है इसकी जानकारी इस पोस्ट में विस्तार के साथ बताई गयी है उम्मीद है आपको जानकारी पसंद आयी होगी तो इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करे ।

Popular Posts –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here