अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस कब मनाया जाता है ?

0
19 views
antarrashtriya divas kab manaya jata hai
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस कब मनाया जाता है दोस्तो आपको यह तो पता ही होगा की योगा करना मनुष्य जीवन के लिए सबसे फायदे मंद माना जाता है जो शरीर से विभिन्न प्रकार की बीमारियों  को दूर करता है तथा हमरे शरीर को सवस्थ बनाता है क्या आपको पता है की अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस कब मनाया जाता है अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस क्यों मनाया जाता है तथा पहला अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस कब मनाया गया और इसकी थीम क्या है योगा करने से क्या क्या फायदे मिलते है।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस कब मनाया जाता है?

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को मनाया जाता है योग शब्द की उत्पत्त‍ि संस्कृति के युज से हुई है, जिसका मतलब होता है आत्मा का सार्वभौमिक चेतना से मिलन। 2021 अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस, 21 जून को मनाया जाएगा, जिसका विषय योग फॉर वेल-बींग है, जो एक ऐसे समय में हमारे समाज के लिए बहुत प्रासंगिक है
जो अभी भी सर्वव्यापी महामारी कोरोनो वायरस बीमारी के प्रभाव से उबर रहा है. कोरोनो की दुर्दशा केवल एक शारीरिक संकट नहीं थी, इसने मानसिक स्वास्थ्य पर भी स्थायी प्रभाव छोड़ा, महामारी-आवश्यक प्रतिबंधों के कारण कई लोग मनोवैज्ञानिक पीड़ा जैसे अवसाद और चिंता से ग्रसित हो गये हैं.
योग ऐसे संकटों से निपटने वाले लोगों की मदद के लिए आ सकता है, संयुक्त राष्ट्र ने अपनी वेबसाइट पर समझाया क्योंकि अभ्यास का संदेश शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य दोनों को बढ़ावा देना है।

पहला अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस कब मनाया गया

पहली बार यह दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया, जिसकी पहल भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नें 27 सितम्बर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण से की थी जिसमें उन्होंने कहा था
योग भारत की प्राचीन परम्परा का एक अमूल्य उपहार है यह दिमाग और शरीर की एकता का प्रतीक है; मनुष्य और प्रकृति के बीच सामंजस्य है; विचार, संयम और पूर्ति प्रदान करने वाला है तथा स्वास्थ्य और भलाई के लिए एक समग्र दृष्टिकोण को भी प्रदान करने वाला है।
  इस दिन करोड़ों लोगों ने विश्व में योग किया जो कि एक रिकॉर्ड था।
योग व्यायाम का ऐसा प्रभावशाली प्रकार है, जिसके माध्याम से न केवल शरीर के अंगों बल्कि मन, मस्तिष्क और आत्मा में संतुलन बनाया जाता है। यही कारण है कि योग से शा‍रीरिक व्याधियों के अलावा मानसिक समस्याओं से भी निजात पाई जा सकती है।
आपको बता दूं कि सबसे पहले, नेपाल के प्रधानमंत्री सुशील कोइराला ने प्रधानमंत्री मोदी के प्रस्ताव का समर्थन किया संयुक्त राज्य अमेरिका सहित 177 से अधिक देशों, कनाडा, चीन और मिस्र आदि ने इसका समर्थन किया है “अभी तक हुए किसी भी संयुक्त राष्ट्र महासभा के संकल्प के लिए यह सह प्रायोजकों की सबसे अधिक संख्या है।
11 दिसंबर 2014 को 193 सदस्यीय संयुक्त राष्ट्र महासभा ने सर्वसम्मति से ‘योग के अंतर्राष्ट्रीय दिवस’ के रूप में 21 जून को मंजूरी दे दी गयी है।

अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस 2015

भारत में सबसे पहले अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस को मनाने के लिए भाजपा के साथ बाबा रामदेव ने भी इस आयोजन के लिए खास तैयारियाँ की थी, विश्व योग दिवस को यादगार बनाने और पूरे विश्व को योग के प्रति जागरूक करने के लिए रामदेव ने 35 मिनट का विशेष पैकेज तैयार किया था।  21 जून को अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस के सफल होने के साथ ही भारत ने दो विश्व रिकार्ड भी कायम कर लिए हैं।
भारतीय प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी और गणमान्य लोगों सहित करीब 36,000 लोगों ने , 21 जून 2015 को नई दिल्ली में पहले अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस के लिए 35 मिनट तक 21 योग आसन (योग मुद्राओं) का प्रदर्शन किया।
योग दिवस दुनिया भर में लाखों लोगों द्वारा मनाया गया प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ राहुल गांधी और अरविन्द केजरीवाल को भी योग दिवस के लिए निमन्त्रण भेजा था राजनैतिक लोगों के अलावा योग गुरु बाबा रामदेव और बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन को भी न्योता भेजा गया।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर हर साल  एक नई थीम क्यों होती है?

हर साल एक नई थीम पर अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन होता है. साल 2015 में इसकी थीम ‘सद्भाव और शांति के लिए योग थी. वहीं साल 2016 में इसकी थीम थी ‘युवाओं को कनेक्ट करें’. इसके बाद 2017 में ‘स्वास्थ्य के लिए योग’ को इसकी थीम रखा गया था।
साल 2018 में ‘शांति के लिए योग’ की थीम पर इसका आयोजन किया गया था. इसके बाद साल 2019 में योग के साथ पर्यावरण को कनेक्ट करते हुए इसकी थीम ‘पर्यावरण के लिए योग’ रखी गई थी।
तथा कोरोना महामारी के चलते पिछले साल 2020 में इसकी थीम ‘सेहत के लिए योग- घर सेयोग’ रखी गई थी. वहीं इस साल अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की थीम ‘स्वास्थ्य के लिए योग’ (योग फ़ॉर वेलनेस) है।

योग करने से क्या-क्या फायदे होते हैं ?

मन रहेगा शांत: योग से मांसपेशियों का अच्छा व्यायाम होता है, लेकिन चिकित्सा शोधों ने ये साबित कर दिया है की योग शारीरिक और मानसिक रूप से वरदान है. योग से तनाव दूर होता है और अच्छी नींद आती है, भूख अच्छी लगती है, इतना ही नहीं पाचन भी सही रहता है योग शुगर, कब्ज जैसी बीमारियों से लड़ने में भी मदद करता है।
योगाभ्यास से आप रोगों से भी मुक्ति पा सकते हैं. योग से रोगों से लड़ने की शक्ति बढ़ती है. योग से शरीर स्वस्थ और निरोग बनता है।योग मांस पेशियों को पुष्ट करता है और शरीर को तंदुरुस्त बनाता है, तो वहीं दूसरी ओर योग से शरीर से फैट को भी कम किया जाता है।
दोस्तो जैसा की हमने जाना है की अंतरराष्ट्रीय योगा दिवस कब और क्यों मनाया जाता है । तथा इसकी शुरुआत किसने की थी और कब की गई उम्मीद है की यह जानकारी आपको पसंद आई होगी तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करे।
Popular posts  –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here